इस बार कमजोर बारिश के आसार  <<  घाटे में चल रही कई प्रमुख कंपनियों के लाभ में आने की उम्मीद  <<  एफएसआई वृद्धि मात्र से आवासीय संकट दूर नहीं हो सकता  <<  आगामी 5 वर्षों के दौरान औसत विकास दर 6.5 प्रतिशत रहने की संभावना : क्रिसिल  <<  इरोड में हल्दी एवं दर भंगा में मखाना तेज  <<  यंग ब्राण्डिंग पर फोकस बढ़ा रही है मर्सीडीज  <<  किशोरों में बढ़ा प्लास्टिक सर्जरी का के्रज  <<  सड़कों पर उतरने लगे दुनियाभर के नशेड़ी  <<   अलवर में श्रीराम पिस्टन की हड़ताल लंबी चली तो... बढ़ेगी ऑटोमोबाइल कंपनियों की दिक्कतें  <<  आज का आर्थिक भविष्यफल  <<  
डाबर के तेजी से बढ़ते कदम
डाबर आज देश भर में सबसे तेजी से आगे बढ़ रही फास्ट मूविंग कन्ज्यूमर गुड्स यानि एफएमसीजी कम्पनियों में शामिल है। पिछले कई वर्षों से डाबर सुपरब्रांड की श्रेणी में भी शामिल है। आज एफएमसीजी उत्पादों का शायद
स्पाइस का स्पाइसी सक्सेस
1990 के दशक की शुरुआत में भारत में नरसिम्हाराव के नेतृत्व वाली सरकार ने लाइसेन्सराज की चूलें हिला दी थी। इसके अलावा सार्वजनिक क्षेत्र की सफेद हाथी जैसी
मंदी और कारोबारी प्रबन्धन
यदि किसी कम्पनी की आर्थिक सेहत अच्छी है तो मंदी के इस माहौल में वर्ष 2009 काफी महत्वपूर्ण होगा। इस वर्ष कम्पनियां यदि सही अवसर तलाश कर सही निर्णय करती हैं तो आने वाले वर्षों में कम्पनी के भविष्य के निर्धारण में महत्वपूर्ण कदम साबित हो
इस बार कमजोर बारिश के आसार
नई दिल्ली। देश में इस बार कमजोर बारिश के आसार हैं, जिस कारण अर्थव्यवस्था की विकास दर जहां प्रभावित होने के आसार हैं तो वहीं खाद्य वस्तुओं में महंगाई की व्यापक संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता। भारतीय मौसम विभाग ने अनुमान लगाया है कि एक तो जून माह के दौरान मानसून आगमन में कुछ विलंब रहेगा, तो दूसरी तरफ पूर॓ मानसून सीजन के दौरान सामान्य से कम बारिश होने की आशंका है। दिलचस्प बात यह है कि इस बार॓ में दुनिया की दूसरी एजेंसियों ने अब तक जो कहा है उसे भी मौसम विभाग ने स्वीकार कि ...

विमान के भीतर मोबाइल-लेपटॉप के उपयोग की अनुमति
नई दिल्ली। विमानन नियामक डीजीसीए ने याति्रयों को विमान के भीतर मोबाइल फोन को ‘फ्लाइट मोड’ में इस्तेमाल करने की इजाजत दे दी है। इसके लिए उसने उन ...
रोचक मुकाबला है दूसर॓ दौर के मतदान में
जयपुर। पूर्वी राजस्थान के पांच संसदीय क्षेत्रों में गुरुवार को मतदान होने जा रहा है और खास बात यह है कि इन पांचों क्षेत्रों में मुकाबला सही मायने में रोचक हो ...
समझें कंपनी अधिनियम के नये प्रावधानों को...
प्राइवेट कम्पनियों से संबंधित प्रावधानकम्पनी अधिनियम 2013 में प्राइवेट कम्पनियों के संबंध में निदेशकों के साथ हृश्ठ्ठ-‌ष्टड्डह्यद्ध सौदों व लेन-देन के तहत भी कुछ ...
अमरीका में पढ़ने की चाह रखने वाले भारतीयों की संख्या बढ़ी
जयपुर। अमरीका में उच्च शिक्षा ग्रहण करने की चाह रखने वाले भारतीयों की संख्या में बड़ा इजाफा दर्ज किया गया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक अमरीका के ग्रेजुएट कॉलेजों में गत वर्ष के मुकाबले चालू वर्ष में भारतीय छात्र-छात्राओं द्वारा किए गए आवेदनों की संख्या 32% बढ़ी है। वाशिंगटन आधारित काउंसिल ऑफ ग्रेजुएट स्कूल्स द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि 2012 के बाद से प्रतिवर्ष भारतीयों द्वारा अमरीका में शिक्षा पाने के लिए कॉलेजों व विश्‍वविद्यालयों में किए जाने वाले आवेदनों की संध्या लगातार बढ़ रही है। रिपोर्ट बताती है ...

‘‘यदि हमार॓ भीतर उच्च अहिंसा के भाव हों तो शेर भी अपना हिंसक भाव भूल जाता है।’’
Current Rates